Ajwain to sabhi ke gharo mein hota hai aur sabji mein khaas daala jaata hai. In many cases with chronic upper respiratory tract infections, bad odor with the sputum and altered taste of mouth due to it is a main concern reported by patients. Talk to your doctor about these less serious side effects: Bleeding from the gums after you brush your teeth Bleeding between menstrual periods Diarrhea, vomiting or inability to eat for more than 24 hours PD November 29, 2020; MD November 29, 2020 by Lata Kaushik. Loss of appetite. More, if the urge is there. Moreover the side effects of these pesticides and preservatives, etc. Ajwain mixture should be taken twice daily with water preferably after food. Ajwain ke fayde in hindi अजवाइन (Ajwain) को हमने हमेशा ही घरों में मसाले के रूप में उपयोग करते हुए देखा है। लेकिन अजवाइन एक औषधीय जड़ी बूटी है इसलिए आपको अजवाइन के फायदे, गुण, लाभ और नुकसान की पूरी जानकारी होनी चाहिए। भारत में अजवाइन को विशेष मसाले के रूप में व्‍यापक रूप से उपयोग किया जाता है। अजवाइन के फायदे विशेष रूप से पाचन या पेट संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए जाने जाते हैं। अजवाइन का इस्‍तेमाल कई प्रकार की समान्‍य और गंभीर बीमारियों के उपचार के लिए किया जाता है। तो आइये जानते है अजवाइन के फायदे के बारे में।, अजवाइन के स्‍वास्‍थ्‍य लाभों में पेट के दर्द, ऐंठन, आंत्र की गैस, अपच, उल्टी,  दस्त, साँस लेने में परेशानी और पेट का भारीपन, स्पर्म की कमी को दूर करने वाली, वीर्य को बढ़ाने वाली, दिल के लिए फायदेमंद, कफ को दूर करने वाली, गर्भाशय को उत्तेजना देने वाली, बुखार को दूर करने वाली, उल्टी, पेट के रोग, जोड़ो मे दर्द इन सब समस्याओं को दूर करने वाली एक बहुत ही अच्छी औषधि है। जो विभिन्न स्वास्थ्य स्थितियों के लिए यह एक सामान्य घरेलू उपाय है। यह दस्‍त, कब्‍ज, किड़नी की समस्‍या, सर्दी, खुजली, यौन कमजोरी, मासिक धर्म की परेशानियों आदि को भी ठीक कर सकती है। आज इस लेख में आप औषधीय जड़ी बूटी अजवाइन के फायदे और नुकसान संबंधी जानकारी प्राप्‍त करेगें।, 1. 2. I eat a lot of Ajwain possibly 6 to 8 tablespoons daily. Yeh pachan ke liye aur anya tarike se upyogi hai. Copyright © 2020 All rights reserved. Gas or flatulence. Is this considered too much?

In the present day, it is mainly cultivated in India and Iran. Eat carom seeds then increase heat in body. Water weight can make you look bloated and add to the extra weight of the body. Although not all of these side effects may occur, if they do occur they may need medical attention. Ajwain is an amazing spice that has many health benefits. अजवाइन के पोषक तत्व – Ajwain ke poshak tatva in Hindi 4. Abdominal distension. Does Sunscreen Application Affect Vitamin D Formation? Taking an excess quantity of Carom Seeds – Ajwain could increase acidity, instead of experiencing headache, vomiting, stomach burning sensation and problems like an ulcer. Read More. You can add 1 teaspoon of honey for flavour. 4 ways to consume aloe vera for a healthy weight loss! I’ve been doing this for four years. Excessive consumption of cumin seeds may trigger nausea and drowsiness. Ajwain (carom seeds) are LIKELY SAFE in food amounts. Therapeutic Indications. जानें अजवाइन के फायदे औषधीय गुण, लाभ, उपयोग, इस्तेमाल, प्रयोग और नुकसान के बारे में हिंदी में। पढ़ें Ajwain Ke Fayde, Gun, Labh, upyog Aur Nuksan in Hindi, Carom Seeds Benefits and Side Effects in Hindi. In such case, it is common to have excessive flatulence. Carom Seeds (Ajwain) Benefits & Side Effects, Pumpkin Seeds Health Benefits & Side effects, Basil Seeds (Sabja or Tukmaria Seeds) Benefits & Side Effects, Chilgoza (Neoza) Pine Nuts (Pinus Gerardiana), Pumpkin Seeds Side effects and allergic reaction, Lotus seeds – Health benefits, Dosage & side effects, Peas – Health Benefits, Contraindications and facts. अजवाइन क्‍या है – Ajwain Kya hai in Hindi, अजवाइन की तासीर – Ajwain ki taseer in Hindi, अजवाइन के पोषक तत्व – Ajwain ke poshak tatva in Hindi, अजवाइन के फायदे – Ajwain ke fayde in Hindi, अजवाइन के फायदे हृदय स्‍वास्‍थ्‍य के लिए – Ajwain ke fayde hirday swasth ke liye in Hindi, अजवाइन के गुण कब्‍ज को ठीक करे – Ajwain ke gun kabj ko thik kare in Hindi, अजवाइन के फायदे डायबिटीज में – Ajwain benefits for Diabetes in hindi, अजवाइन के उपयोग यौन कमजोरी दूर करे – Ajwain ke upyog youn kamjori ko dur kare in Hindi, अजवाइन के फायदे अपच, दस्त और गैस में – Use of ajwain in Indigestion, diarrhoea and gas in Hindi, अजवाइन के घरेलू नुस्खे महिलाओं के लिए – Ajwain ke gharelu nuskhe mahilao ke liye in Hindi, अजवाइन का उपयोग खट्टी डकारों के लिए – Carom Seeds benefits for Burping in Hindi, अजवाइन का उपयोग मासिक धर्म में – ajwain for menstrual pain in Hindi, अजवाइन के लाभ स्‍तनपान के लिए – Ajwain ke labh stanpaan ke liye in Hindi, अजवाइन और नींबू के फायदे पेट के लिए – Ajwain aur nimbu ke fayde pet ke liye in Hindi, अजवाइन और गुड़ के फायदे सर्दी के उपाय- Ajwain aur gud ke fayde sardi ke upay in Hindi, सर्दी में नाक बंद होने पर अजवाइन के फायदे – Carom Seeds for cold in hindi, अजवाइन का प्रयोग दांत और कान दर्द के लिए – Ajwain ka prayog dant aur kaan dard ke liye in Hindi, अजवाइन का इस्‍तेमाल घाव उपचार में – Ajwain ka istemal ghav upchar me in Hindi, अजवाइन के लाभ शराब की आदत छुड़ाने के लिए – Carom Seeds benefits for quit alcohol in Hindi, अजवाइन के फायदे बालों के लिए – Ajwain ke fayde balo ke liye in Hindi, अजवाइन बेनिफिट्स फॉर स्किन – Ajwain benefits for skin in Hindi, अजवाइन का लेप गठिया का उपचार – Ajwain ka lep gathiya ka upchar in Hindi, अजवाइन और जीरा पेट की गैस की दवा – Ajwain aur jeera pet ki gas ki dawa in Hindi, अजवाइन की चाय से अस्‍थमा का इलाज करें – Ajwain ki chai se asthma ka ilaj kare in Hindi, शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने के लिए अजवाइन के फायदे – Carom Seeds to increase sperm count in Hindi, अजवाइन के फायदे खुजली के लिए – Ajwain hai faydemand khujli ke liye in Hindi, अजवाइन की खुराक – Ajwain ki khurak in Hindi, अजवाइन के नुकसान – Ajwain ke Nuksan in Hindi, टाइप 2 मधुमेह क्या है, कारण, लक्षण, उपचार, रोकथाम और आहार…, दस्‍त (डायरिया) के दौरान क्‍या खाएं और क्‍या ना खाएं…, महिलाओं को मासिक धर्म के समय होने वाली परेशानियों, पीरियड्स के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं…, डकार क्यों आती है डकार आने से रोकने के घरेलू उपाय…, ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं…, अगर आपको भी पेट फूलने की समस्या है तो अपनाएं इन टिप्स को…, शराब पीने के फायदे और नुकसान और शरीर पर इसका प्रभाव…, पेट की गैस के कारण और दूर करने के आसान घरेलू उपाय…, अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव…, शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने का घरेलू उपाय…, सामान्‍य रूप से स्‍वस्‍थ व्‍यक्ति को प्रतिदिन 1 से 3 ग्राम अजवाइन का सेवन करना चाहिए।, यदि चिकित्‍सीय खुराक ली जा रही है तो अजवाइन की मात्रा 2 से 4 ग्राम प्रतिदिन होनी चाहिए।, यदि आप अजवाइन के पानी का सेवन करते हैं तो इसकी मात्रा 10 से 100 मिली ग्रा. Char Magaz – Four Seed Kernels to Increase Brain Strength, Amazing Benefits of Fennel Seeds (Saunf) that You Should Know, CAROM SEEDS, AJOWAN CARAWAY, BISHOP’S WEED, TRACHEOPHYTA (TRACHEOPHYTES or Vascular Plants), SPERMATOPHYTINA (SPERMATOPHYTES or Seed Plants). HealthCare. Fight bacteria and fungi. Dr. Dev. Jeera water is a phenomenally safe method of improving general wellness. Does it really help to reduce weight or it is just a bag. He has successfully treated thousands of patients with Ayurveda (including Herbal Ayurvedic Medicine and Ayurvedic Diet). Ajwain has appetite-stimulating properties and on account of laxative components, it fastens the bowel movement and thus helps in weight loss. in Medicinal Plants) is an Ayurvedic Practitioner and Herbalist. Causes Acidity: My wife is one of them. Regular taking of ajwain also helps to regulate obesity.

Ajwain (carom seeds) can exacerbate these conditions and increase the symptoms of these diseases. सौंफ के 21 फायदे, उपयोग और नुकसान – Fennel Seeds (Saunf) Benefits, Uses and Side Effects in Hindi Medically reviewed by Neelanjana Singh , Nutrition Therapist & Wellness Consultant Abdominal pain or cramps. Pregnant women-It is beneficial for pregnant women. If condition is mild, then alone Ajwain is sufficient to cure this condition, but if one has obstinate abdominal distension, then following Ajwain combination is proved to be helpful. This dosage is advised to repeat for 2 times a day for 1 to 2 weeks. Ajwain seeds or carom seeds dosage varies according to health condition, age and symptoms. This is … These seeds provide flavor and fragrance to food recipes. Ajwain reduces inflammation of the inner linings of alimentary canal, so it prevents mucus formation. Ajwain (carom seeds) can exacerbate these conditions and increase the symptoms of these diseases. Some people are allergic to bishop's weed. अजवाइन की तासीर – Ajwain ki taseer in Hindi 3. Even each belongs to different family, as per botanical classification. Ajwain is one of the … If you eat an excessive amount of these seeds, it can result in side effects like acidity, indigestion, bleeding problems, and mouth ulcers. To prepare ajwain water, boil 2 teaspoons of roasted ajwain seeds in water. 3 grams Ajwain powder is advised to take with lukewarm water in the morning and evening for excess flatulence or gas problems. Ajwain (carom) seeds contain saponins and phenolic compounds. This difference should be understood properly. Ajwain Side Effects They do not cause any side effects when consumed in moderate amounts. In stomach, it modulates the gastric secretion and increases the digestive action. इस वीडियो में आजावन खाने के दुष्प्रभाव बताए गए हैं. Ajwain in marathi hai ova aur ajwain benefits side effects mein yeh dhyan rakhe ki yeh bahut tej hota hai to jyada na khaye varna pet mein jalan hoga. I’ve been doing this for four years. I eat a lot of Ajwain possibly 125 gm daily with sea salt, and I have small crystals (kidney stone) in my both kidneys. Therefore, you should add ajwain seeds after cooking or in final stage of cooking. The general dosage table is as follows. How should Ajwain be consumed for weight loss purposes? In ayurveda, Ajwain (carom seed) powder (Churna) is given along with Shringa Bhasma Praval Pishti and Sitopaladi Churna in following dosage. Disclaimer: Information provided on this website is not intended to diagnose, prevent, treat, or cure any disease. So here we discussed the benefits of carom seeds. Yes, it is true that ajwain water is a home remedy to cure various digestion problems, but excess use... 2. Ajwain Similar to fenugreek seeds, ajwain also increases the metabolic rate and burns fat. Is this bad for me? Powder of ajwain seeds is also added in cooked vegetables along with black pepper, long pepper and coriander seeds. However, both plants have similar health benefits, but both are botanically different species. If one has hard and dry stools or little lumps in the stools, Ajwain … Other side-effects of cumin seeds include mental clouding, drowsiness and nausea. They can get a runny nose, rash, or hives. This dosage should be repeated for 3 to 4 times in a day during acute onset of Urticaria, and then it should be taken twice daily. अजवाइन के फायदे – Ajwain ke fayde in Hindi, 5. Please reply, thank you. With this combination effects start within an hour after its intake, which results in complete remission of intense itching within 3 to 6 hours. Ajwain (carom seeds) has bacteriostatic, bactericidal and antibacterial actions, which helps to fight off upper respiratory tract infections. 6. अधिक मात्रा में अजवाइन का सेवन करने से चक्‍कर आना, कुछ लोगों को अजवाइन का अधिक मात्रा में सेवन. For weight loss purposes, 3 grams Ajwain twice daily is optimum dosage. The seeds stimulate gut secretion which can worsen the condition of an existing stomach ulcer. Ajwain mixture should be taken twice daily with water or honey and preferably after food. अजवाइन की खुराक – Ajwain ki khurak in Hindi 6. Zarb e Momin TV 58,322 views 2:42 Ayur Times is an initiative of his efforts to bring quality information on Indian Medicine with the highest level of relevancy and scientific evidence. Ajwain Water Benefits ans Side Effects in Hindi - अजवाइन का पानी पीने के फायदे और नुकसान - Ajwain ke pani ke fayde aur nuksan Side Effects. 9. Side effects requiring immediate medical attention. By using, reading or accessing any page on this website, you agree that you have read, understood and will abide by the Disclaimer, Privacy Policy and Terms of Use. See a certified medical professional for diagnosis. The most common cause of bloating and abdominal distension is excess gas accumulation in the abdomen. How should Ajwain be consumed for weight loss purposes? It acts by stimulating metabolism and boosting fat burning. Plz tell me sir. Ajwain (carom seed) appears to have similar action as modern antihistamine drugs work. The excess amount (exceeding 10 grams a day) can cause following side effects. The side effects are apparently pretty serious, and there are only five participants so far who have been placed on a full dose. It reduces microbial growth and thickness of the mucus, and increases the expulsion of the accumulated mucus content from the lungs. All these volatile oils are responsible for its medicinal properties given below. Ajwain (carom seed) has following healing properties. Loose stools or diarrhea. अजवाइन(Ajwain /Carom Seeds) का पौधा आमतौर पर … Ajwain or carom seeds have a great importance in Indian cooking. This, in turn, can lead to nausea, vomiting, diarrhea, indigestion, flatulence, and gastric ulcers. Is this considered too much? Ajwain ke fayde - ajwain benefits side effects in urdu-अजवाइन के फायदे और नुकसान - Duration: 2:42. Some ayurvedic doctors also use 2 grams Ajwain Churna along with 2 grams jaggery and 125 mg Ras Sindoor to provide immediate relief from intense itching. अजवाइन के नुकसान – Ajwain ke Nuksan in Hindi, हम सभी अजवाइन का उपयोग मसाले के रूप में करते हैं जबकि आयुर्वेद इसे औषधी मानता है। अजवाइन का वैज्ञानिक नाम ट्रेकिस्पर्मम अम्मी (Trachyspermum ammi) है। अजवाइन का पौधा छोटा झाड़ी की तरह दिखाई देता है जो आमतौर पर हरे रंग का होता है। अलग अलग जगहों पर अजवाइन को कई नामों से जाना जाता है जैसे कि विशप के खरपतवार, थाइमोल के बीज या अजवाइन, तेलुगु में इसे वामु, तमिल में ओमम, मलयालम में अयोधमकम और कन्नड़ में ओम कलुगलु आदि नामों से जाना जाता है। अजवाइन के बीज आकार में छोटे और हल्‍के हरे रंग के होते हैं जो भोजन का स्‍वाद बढ़ाने और स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छे होते हैं। इस पौधे की पत्तियां पंख के समान होती हैं। आइए जाने अजवाइन के बारे में अन्‍य जानकारीयां।, अपने विशेष स्‍वाद और गुणों के कारण अजवाइन का उपयोग विभिन्‍न प्रकार की औषधी और पूरक औषधी के रूप में किया जाता है। अजवाइन की तासीर गर्म होती है जिसके कारण अजवाइन का स्‍वाद तीखा होता है। इन्‍हीं गुणों के कारण ही अजवाइन का उपयोग विशेष रूप से सर्दी से बचने और गर्भावस्‍था के दौरान महिलाओं के लिए किया जाता है। आइए जानेते हैं अजवाइन में पाए जाने वाले पोषक तत्‍व क्‍या हैं।, कैरम सीड्स (Carom Seeds) या अजवाइन और इसके तेल में पोषक तत्‍वों की उच्‍च मात्रा होती है। जिसके कारण ही आज अजवाइन का उपयोग पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो रहा है। नियमित रूप से अजवाइन का सेवन करने से यह हमें सभी जरूरी पोषक तत्‍व उपलब्‍ध कराता है। 100 ग्राम अजवाइन में 17.1 % प्रोटीन, 21.8 % फैट, 7.9 खनिज पदार्थ, 21.2 % फाइबर और 24.6 % कार्बोहाइड्रेट होता है। इसके अलावा अजवाइन मे कैल्शियम, थायमिन, राइबोफ्लेविन, फॉस्‍फोरस, आयरन और नियासिन की भी अच्‍छी मात्रा होती है। अजवाइन के तेल को अजवाइन के बीजों से प्राप्‍त किया जाता है। अजवाइन का तेल निकालने के लिए पौधे के फूल और पत्‍ते का उपयोग किया जाता है। इनमें 35-60 प्रतिशत तक थाइमोल होता है। अजवाइन और अजवाइन के तेल का उपयोग विशेष रूप से कीटाणुनाशक और कवक नाशक के रूप में किया जाता है। आइए जानते हैं अजवाइन के फायदे हैं।, स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्राप्‍त करने के लिए अजवाइन का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है। अजवाइन के फायदे संक्रामण से फैलने वाली बीमारियों को रोकने में मदद करते हैं। इसके अलावा अजवाइन के फायदे महिला स्‍वास्‍थ्‍य और पुरुषों के लिए भी होते हैं। पुरुषों और महिलाओं में कामेच्‍छा को बढ़ाने के लिए अजवाइन का उपयोग प्राचीन समय से किया जा रहा है। इसके अलावा यह महिलाओं में होने वाले हार्मोन असंतुलन को भी नियंत्रित करने में सहायक होता है। आइए विस्‍तार से जानते हैं मानव स्‍वास्‍थ्‍य के औषधीय अजवाइन के फायदे क्‍या हैं।, पारंपरिक रूप से मसाले के रूप में उपयोग की जानेवाल अजवाइन हृदय के लिए लाभकारी होती है। नियमित रूप से उपभोग करने पर यह दिल संबंधी बीमारियों से हमे बचा सकती है। आप अपने हृदय को स्‍वस्‍थ रखने के लिए अजवाइन के बीज को गर्म पानी के साथ सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप आप 1 चम्‍मच अजवाइन लें और इसे 1 गिलास पानी कुछ देर के लिए गर्म करें। फिर इसे ठंडा करके सीधे ही पी लें। अजवाइन का पानी सीने के दर्द को ठीक करने में भी फायदा मिलता है। सीने के दर्द से जल्‍दी राहत पाने के लिए आप 1 चम्‍मच अजवाइन के साथ गुड़ का भी सेवन कर सकते हैं।, (और पढ़े – जानें हार्ट को हेल्‍दी कैसे रखें…), पाचन संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए अजवाइन का उपयोग किया जा सकता है। विशेष रूप से अजवाइन कब्‍ज की समस्‍या का प्रभावी इलाज कर सकती है। अजवाइन के औषधीय गुण पेट में होने वाले असंतुलन का ठीक कर मल त्‍याग को आसान बनाने मे सहायक होता है। यदि आप कब्‍ज रोगी हैं तो अजवाइन के गुणों से लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।, रोज सुबह उठने पर अजवाइन का पानी पीने से डायबिटीज की समस्या दूर होती है। सुबह उठकर आप अजवाइन का पानी का सेवन करेंगे तो ऐसा करने से डायबिटीज की समस्या कुछ ही समय बाद दूर हो जाएगी।, (और पढ़े – टाइप 2 मधुमेह क्या है, कारण, लक्षण, उपचार, रोकथाम और आहार…), आयुर्वेद के अनुसार अजवाइन के बीज का सेवन यौन कमजोरी को दूर करने में मदद कर सकता है। जो लोग यौन कमजोरी का समना करते हैं उनके लिए यह एक प्रभावी औषधी है। इसके लिए आपको अजवाइन के बीज और कुछ इमली के बीजों को शुद्ध मक्खन में भूनना है। इसके बाद इस मिश्रण को पीस कर एक पाउडर बना लें। इस मिश्रण की 1 चम्‍मच मात्रा 1 गिलास दूध और शहद के साथ नियमित रूप से सेवन करें। यह आपकी यौन इच्‍छा में कमी को दूर कर यौन स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ाने में मदद करता है। अच्‍छे परिणाम प्राप्‍त करने के लिए आप इसे प्रतिदिन रात में सोने से पहले सेवन करें।, 100 ग्राम पीसी हुई अजवाइन में 15 ग्राम पिसा हुआ सेंधा नमक मिलाकर चूर्ण बनाएं। इसकी आधा-आधा चम्मच दो बार खाने के बाद पानी में मिलकर पी लें। इस तरह अपच, दस्त और गैस अजवाइन का सेवन से सभी में लाभ होंगे।, (और पढ़े – दस्‍त (डायरिया) के दौरान क्‍या खाएं और क्‍या ना खाएं…), कैरम बीजों का उपयोग महिला स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा देने में भी मदद करता है। महिलाओं के लिए मासिक धर्म चक्र की समस्‍याएं बहुत ही कष्‍टदायक होती है। लेकिन अजवाइन के औषधीय गुण महिलाओं को मासिक धर्म के समय होने वाली परेशानियों से बचा सकते हैं। अजवाइन के बीज एक तंत्रिका टॉनिक के रूप में कार्य करते हैं। इस तरह से यह महिलाओं को होने वाली मासिक ऐंठन से छुटकारा दिला सकता है। इस तरह से अजवाइन के बीज के फायदे महिलाओं के लिए लाभकारी होते हैं।, (और पढ़े – पीरियड्स के दौरान क्या करना चाहिए और क्या नहीं…), अजवाइन का सेवन करने के लिए अजवाइन, सेंधा नमक, हींग और सूखे आवलें को लेकर सबको एक साथ पीसकर चूर्ण बना लें। इस चूर्ण की 1 ग्राम की मात्रा को सुबह और शाम के समय शहद के साथ लेने पर जो खट्टी डकार आ रही थी उनका आना बंद हो जाता है।, (और पढ़े – डकार क्यों आती है डकार आने से रोकने के घरेलू उपाय…), अगर मासिक धर्म में अधिक दर्द होता हो तो 4 चम्मच कच्ची अजवाइन और 2 चम्मच सेंधा नमक पीसकर, मिलाकर मासिक धर्म के दिनों में आधा-आधा चम्मच तीन बार रोजाना लें। दर्द बंद होने पर इसे लेना छोड़ दें।, जो महिलाएं स्‍तनपान करा रही हैं उनके लिए अजवाइन का उपयोग फायदेमंद होता है। अजवाइन का उपयोग स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं में दूध उत्‍पादन की क्षमता को बढ़ाने में सहायक होते हैं। इसके लिए उन्‍हें अजवाइन और सौंफ के बीज को पानी में मिलाकर सेवन करना चाहिए। इसके लिए वे 1 चम्‍मच सौंफ और 1 चम्‍मच अजवाइन को रात में 1 गिलास पानी में भिगों दें और फिर अगली सुबह इसका सेवन करें। यह मिश्रण गर्भाशय को साफ करने और दूध उत्‍पादन को बढ़ाने में सहायक होता है। इस तरह से स्‍तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए अजवाइन के औषधीय गुण लाभकारी होते हैं।, (और पढ़े – ब्रेस्ट मिल्क (मां का दूध) बढ़ाने के लिए क्या खाएं…), पेट संबंधी समस्‍याओं को दूर करने के लिए प्राचीन समय से ही अजवाइन का उपयोग किया जा रहा है। आप पेट से संबंधित समस्‍याओं को दूर करने के लिए 3 चम्‍मच अजवाइन के बीजों को नींबू के रस में मिलाकर छाया में सुखा लें। जब ये बीज अच्‍छी तरह से सूख जाएं तो आप इन्‍हें पीस कर पाउडर बना लें। इसमें आप अपने स्‍वादानुसार थोड़ा सा काला नमक मिला दें। इसे दिन में दो बार गुनगुने पानी के साथ सेवन करें। इस औषधी का सेवन कर आप भूख की कमी, पेट फूलना और अन्‍य पेट की समस्‍याओं को दूर करने में सहायक होता है। इस तरह से आप अपने पेट को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए अजवाइन और नींबू का उपयोग कर सकते हैं।, (और पढ़े – अगर आपको भी पेट फूलने की समस्या है तो अपनाएं इन टिप्स को…), सर्दी होना शरीर की अशुद्धियों को साफ करने के लिए अच्‍छा है। लेकिन यह आपके स्‍वास्‍थ्‍य और व्‍यक्तिगत जीवन में परेशानियों का भी कारण बन सकती है। लेकिन आप अजवाइन का उपयोग कर सामान्‍य सर्दी के लक्षणों को दूर कर सकते हैं। अजवाइन का उपयोग सर्दी के दौरान आने वाली बलगम को आसानी से साफ कर नाक की रूकावट से बचा सकता है। इसके लिए आपको अजवाइन के बीज और गुड़ को गर्म करें। इस मिश्रण को प्रतिदिन दो बार 2-2 चम्‍मच सेवन करें। यह आपकी सर्दी और स्‍वांश संबंधी समस्‍याओं को प्रभावी रूप से दूर कर सकती है।, (और पढ़े – सर्दी जुकाम और खांसी के घरेलू उपाय…), अजवाइन में तेल होता हैं जो नाक में जमे बैक्टीरिया को ख़त्म कर देता है। बैक्टीरिया के ख़त्म हो जाने पर नाक खुल जाती हैं। सर्दी में नाक बंद होने पर अजवाइन का इस्तेमाल करने के लिए किसी बर्तन में पानी और तीन चम्मच अजवाइन डालकर उबालें। जब भाप निकलने लगे तब तौलिए से सिर ढककर मुंह को बर्तन के पास जितनी गर्मी सहन हो, उतनी दुरी पर रखें। भाप को नाक से सांस लेते हुए खींचें और मुंह खोलकर सांस बाहर निकालें इस तरह भाप में सांस लेने से नाक खुल जायेगी। और सर्दी के कारण होने वाला सिरदर्द या साइनस का दर्द भी ठीक हो जायेगा।, (और पढ़े – बंद नाक खोलने के घरेलू उपाय और नुस्खे…), कान और दांत में होने वाला दर्द बहुत ही कष्‍टदायक होता है। आप इस प्रकार के दर्द को दूर करने के लिए अजवाइन का फायदेमंद उपयोग कर सकते हैं। इस समस्‍या से बचने के लिए अजवाइन तेल की 2 बूंदें ही काफी हैं। दांत के दर्द का उपचार करने के लिए 1 चम्‍मच अजवाइन और नमक के पानी से कुल्‍ला करने से लाभ मिल सकता है। इसके अलावा आप दर्द से छुटकारा पाने के लिए अजवाइन को जलाएं और इसका धुआं मुंह में लें। यह दांत दर्द का प्रभावी इलाज है इसके अलावा आप अजवाइन के पानी का उपयोग माउथ वॉश के रूप में भी कर सकते हैं।, (और पढ़े – दांत दर्द ठीक करने के 10 घरेलू उपाय…), यदि आप किसी चोट या घाव का इलाज करना चाहते हैं तो अजवाइन आपकी मदद कर सकती है। अजवाइन के बीज में थाइमोल नामक एक घटक मौजूद रहता है जो एक कवकनाशी और रोगाणुनाशक का काम करता है। अजवाइन का उपयोग आप त्‍वचा संक्रमण को दूर करने के लिए भी कर सकते हैं। इसके लिए आप अजवाइन के बीजों को कुचल कर त्‍वचा में लगाएं। यह आपके घावों को आसानी से ठीक करने में मदद करता है। इस तरह से आप अजवाइन का उपयोग घावों को ठीक करने के लिए कर सकते हैं।, जब भी शराब पीने को मन करे, चुटकी भर अजवाइन चबाएं जब तक शराब पीने की इच्छा समाप्त नहीं हो जाये, अजवाइन चबाते रहे और इसका रस चूसते रहे, कुछ दिन ऐसा करने से शराब की आदत छूट जाएगी।, (और पढ़े – शराब पीने के फायदे और नुकसान और शरीर पर इसका प्रभाव…), आज अधिकांश लोग अपने बालों को लेकर बहुत ही परेशान रहते हैं। अजवाइन के बीज बालों की समस्‍याओं को दूर करने में प्रभावी माने जाते हैं। विशेष रूप से यह समय से पहले ही बालों को भूरा होने से बचा सकते हैं। अजवाइन का उपयोग बालों में करने के लिए आप एक कप पानी में करी पत्‍ता, किशमिश, चीनी और अजवाइन के बीज मिलाकर उबालें। इस‍ अच्‍छी तरह पकने के बाद आप इस मिश्रण को ठंडा करें और और अपने बालों में लगाएं। इसके अलावा बालों को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए आप नियमित रूप से प्रतिदिन 1 गिलास अजवाइन के पानी का भी सेवन कर सकते हैं।, (और पढ़े – स्वस्थ बालों के लिए क्या खाना चाहिए…), आप अपने चेहरे को सुंदर बनाने के लिए अजवाइन का उपयोग कर सकते हैं। अजवाइन विशेष रूप से मुंहासों के निशान को दूर करने में सहायक होता है। मुंहसों के दाग हटाने के लिए आप अजवाइन के पाउडर का पेस्‍ट बनाएं और प्रभावित क्षेत्र में 10 से 15 मिनिट के लिए लगाएं। इसके बाद आप इसे सामान्‍य पानी से धो लें। नियमित रूप से उपयोग करने पर यह कुछ ही दिनों में मुंहासों के निशान से आपको छुटकारा दिला सकता है।, (और पढ़े – मुहासे के दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय…), औषधीय गुणों से भरपूर अजवाइन गठिया का इलाज करने में सहायक होता है। अजवाइन में 2 प्रकार के विशेष गुण होते हैं जो उन्‍हें गठिया के प्रभाव करने में सक्षम बनाते हैं। अजवाइन में एंटीबायोटिक गुण होते हैं जो लालिमा को कम करते हैं और सूजन से राहत दिलाते हैं। दूसरा गुण संवेदनहारी गुण है जो दर्द और सूजन दोनों से राहत दिलाते हैं। आप गठिया के घरेलू इलाज के लिए अजवाइन का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए आप अजवाइन के बीजों को पीस कर पाउडर बना लें। इस पाउडर को पानी में मिलाकर पेस्‍ट बनायें और अपने जोड़ों में लगाएं। विकल्‍प के रूप में आप टब में अजवाइन बीज डालें और अच्‍छी तरह से बीजों के फूलने के बाद अपने जोड़ों को टब में ड़बोएं। यह गठिया के दर्द और सूजन दोनो से राहत दिलाने में मदद करता है।, पेट में गैस बनना आमतौर पर सामान्‍य जीवन को प्रभावित करता है। इसका उपचार करने के लिए अजवाइन का प्रयोग फायदेमंद होता है। इसके लिए आप 1 चम्‍मच अजवाइन बीज और 1 चम्‍मच जीरा को मिलाएं। नियमित रूप से अदरक पाउडर के साथ इस मिश्रण का सेवन करने से आपको पेट की गैस से राहत मिल सकती है। यह प्राकृतिक उपचार अपच से संबंधित सभी प्रकार की समस्‍याओं को दूर करने का सबसे अच्‍छा तरीका है। आप भी अजवाइन और जीरा के लाभ प्राप्‍त कर सकते हैं।, (और पढ़े – पेट की गैस के कारण और दूर करने के आसान घरेलू उपाय…), यदि आप अस्‍थमा रोगी हैं तो अस्‍थमा के लक्षणों को कम करने के लिए अजवाइन की चाय का सेवन करें। प्रभावी तरीके से अजवाइन की चाय अस्‍थमा का इलाज कर सकती है। इसके लिए आप 1 कप पानी में अजवाइन के कुछ बीज लें और इसे उबालें। इसके बाद इसे छानकर इसका सेवन करें। अतिरिक्‍त स्‍वाद और लाभ बढ़ाने के लिए आप इसमें शहद भी शामिल कर सकते हैं। यह तुरंत ही सर्दी से राहत दिलाने में भी सहायक होती है। यह ब्रोंकाइटिस और अस्‍थमा के इलाज में बहुत ही फायदेमंद होती है। इस तरह से आप अस्‍थमा का घरेलू उपचार करने के लिए अजवाइन की चाय का उपयोग कर सकते हैं।, (और पढ़े – अस्थमा (दमा) के कारण, लक्षण, उपचार एवं बचाव…), अजवाइन का सेवन शुक्राणुओं की संख्या में सुधार करने और समय पूर्व स्खलन का इलाज के लिए एक सिद्ध विधि है।, (और पढ़े – शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने का घरेलू उपाय…), खुजली और एक्जिमा जैसी समस्‍याओं से बचने के लिए अजवाइन का पेस्‍ट फायदेमंद होता है। अजवाइन का पेस्‍ट बनाने के लिए गुनगुने पानी के साथ अजवाइन को पीस लें। इस पेस्‍ट को चेहरे या शरीर के किसी भी प्रभावित हिस्‍से में लगाएं। यह आपको त्‍वचा की खुजली और अन्‍य त्‍वचा संक्रमण से बचाने में सहायक होता है। इसके अलावा आप अजवाइन के पानी से भी प्रभावित क्षेत्र को धुल सकते हैं। खुजली या एक्जिमा की सूजन दूर करने के लिए आप अवाइन पाउडर और नींबू के रस को प्रभावित क्षेत्र में लगाएं। यह खुजली से होने वाली सूजन को दूर करने का सबसे अच्‍छा तरीका है।, (और पढ़े – खुजली से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय…), अजवाइन एक औषधी है जिसका सेवन हमें औषधी के अनुसार ही करना चाहिए।, क्‍योंकि अधिक या कम मात्रा में सेवन करने से हमें पर्याप्‍त लाभ प्राप्‍त नहीं हो पाते हैं।, इसके लिए हमें निश्चित मात्रा में अजवाइन का सेवन करना चाहिए।, सामान्‍य रूप से अजवाइन का सेवन करने पर यह सुरक्षित है, लेकिन कुछ विशेष स्थितियों में अजवाइन के दुष्‍प्रभाव भी हो सकते हैं।, (और पढ़े – चक्कर आने के कारण, लक्षण, निदान और इलाज…), इसी तरह की अन्य जानकरी हिन्दी में पढ़ने के लिए हमारे एंड्रॉएड ऐप को डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं। और आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं।, अस्वीकरण healthunbox.com पर दी हुई संपूर्ण जानकारी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गयी हैं। हमारा आपसे विनम्र निवेदन हैं की किसी भी सलाह / उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करे। इस स्वास्थ्य से सम्बंधित वेबसाइट का उद्देश आपको अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करना और स्वास्थ्य से जुडी जानकारी मुहैया कराना हैं। आपके चिकित्सक को आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानकारी होती हैं और उनकी सलाह का कोई विकल्प नहीं है.


American Crime Cast Season 2, Saving Lives At Sea Series 2 Episode 3, City Of Miami Zoning Code, Adelaide Street Brisbane Hotels, Cape Lookout Lighthouse Webcam, Neem Karoli Baba And Steve Jobs, Open Arms Karaoke Prettymuch, Moto Xt1770 Model Specification, The Shipper Ost,